Breaking News

चितरपुर कॉलेज और चितरपुर इंटर कॉलेज में स्वतंत्रता दिवस मना

चितरपुर कॉलेज में प्रशासनिक भवन का हुआ उद्घाटन

भारत जिस देश का गुलाम था, उस देश का प्रधानमंत्री बनने जा रहा एक भारतीय: शफीक अनवर

रजरप्पा(रामगढ़)। देश के स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर देश अमृत महोत्सव के दौरान धूमधाम से स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इसी क्रम में रामगढ़ जिला के चितरपुर में स्थित प्रसिद्ध शिक्षण संस्थान चितरपुर कॉलेज और चितरपुर इंटर कॉलेज में स्वाधीनता दिवस के मौके पर झंडोत्तोलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कॉलेज के सचिव और प्रसिद्ध व्यवसाय शफीक अनवर ने दोनों कॉलेजों में झंडोत्तोलन किया। वही चितरपुर कॉलेज के नए प्रशासनिक भवन का कॉलेज के सचिव शफीक अनवर ने फीता काटकर उद्घाटन किया।

इस मौके पर संबोधित करते हुए सफीक अनवर ने कहा कि पिछले 75 वर्षों में भारत विश्व के गिने-चुने देशों में शुमार हो चुका है। पिछले 75 वर्षों में भारत सभी क्षेत्रों में तेजी से विकास किया है। उन्होंने कहा कि आज पूरे विश्व में भारत की डंका बजती है। हम जिन अंग्रेजों के गुलाम थे। आज हमारे देश का एक होनहार वहां का प्रधानमंत्री बनने के कतार में खड़ा है। उन्होंने कहा कि हमने विकास के साथ-साथ कुछ गलत मार्गों को भी अपना लिया है। लोग स्वाधीनता का गलत फायदा भी उठाने लगे हैं। बात-बात में लोग आक्रोश में आकर हिंसा कर बैठ रहे हैं। आज समय है कि हम गांधी जी के बताए अहिंसा के मार्ग पर चलें। उन्होंने कहा कि हमें अपने देश में शिक्षा के बढ़ावा देने के लिए आगे आना होगा। खासकर झारखंड में शिक्षा का स्तर काफी कमजोर है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित झंडोत्तोलन कार्यक्रम में चितरपुर कॉलेज में कार्यक्रम का संचालन प्राचार्य डॉ संज्ञा ने किया।

वहीं चितरपुर इंटर कॉलेज में कार्यक्रम का संचालन प्राचार्य पी वी मिश्रा ने किया। वही इस मौके पर चितरपुर के प्रखंड विकास पदाधिकारी उदय कुमार, अंचलाधिकारी विजया कुजूर,रजरप्पा ओपी प्रभारी विद्या शंकर, चितरपुर इंटर कॉलेज के पूर्व प्राचार्य अशोक उपाध्याय,अरुण दांगी, चंद्रशेखर पटवा, चित्रगुप्त महतो, कॉलेज के सुरेंद्र कुमार,मनोज झा, उत्तम कुमार, अर्शिया इम्तियाज, रवि शंकर सहित अन्य मौजूद थे।

 

Check Also

कांग्रेस हमेशा से महिलाओं और आदिवासियों का अपमान करती रही है: संजय सेठ

🔊 Listen to this द्रोपदी मुर्मू जी जैसा राष्ट्रपति किसी देश को ना मिले यह …