Breaking News

वरीष्ठ कम्युनिस्ट नेता भीम तिवारी का हुआ निधन

एआईएसएफ के जिला सचिव रूचित तिवारी के पिता राजेश्वर तिवारी का भी हुआ देहांत

मेदनीनगर:  वरिष्ठ कम्युनिस्ट नेता रेड़मा निवासी कामरेड भीम तिवारी एवं राजेश्वर तिवारी उर्फ फागुन तिवारी का कल शाम को देहांत हो गया। आज अहले सुबह भीम तिवारी का दाह संस्कार कोयल नदी के तट पर किया गया दाह संस्कार से पहले रेड़मा स्थित उनके आवास पर भाकपा के जिला सचिव रुचिर कुमार तिवारी, केडी सिंह, मृत्युंजय शर्मा, लल्लू सिंह, सुरेश सिंह ने उनको लाल झंडा दिया एवं उसके बाद जिला सचिव श्री तिवारी ने कामरेड भीम तिवारी को लाल सलाम कामरेड भीम तिवारी अमर रहे जैसे नारे लगाए। रेड़मा स्थित उनके आवास पर डॉक्टर अरुण शुक्ला भी उपस्थित थे।

कामरेड भीम तिवारी शुरू से ही कम्युनिस्ट पार्टी के मेंबर थे और स्थापना काल से ही कम्युनिस्ट पार्टी के प्रचार प्रसार में लगे रहते थे वे हमेशा दबे कुचले गरीब लोगों के हक एवं अधिकार के लिए लड़ते रहे हैं। उनका निधन एक पीढ़ी का अंत हो जाना प्रतीत होता है। मुखाग्नि उनके बड़े बेटे अनिल तिवारी ने दिया।उनके दाह संस्कार में उपेंद्र मिश्रा, प्रेम प्रकाश, सुरेश ठाकुर, रवि शंकर सहित कई लोग उपस्थित थे वही आज ही के दिन एआईएसएफ के जिला सचिव मृत्युंजय तिवारी के पिताजी जो एक कम्युनिस्ट थे उनका भी दाह संस्कार टेढ़़वा नदी के तट पर हुआ दाह संस्कार में जिला सचिव रुचिर कुमार तिवारी, सुरेश ठाकुर, चंद्रशेखर तिवारी मृत्युंजय शर्मा, श्याम किशोर तिवारी, लव तिवारी , जगन्नाथ तिवारी, जनार्दन तिवारी, दुर्गा तिवारी सहित कई लोग उपस्थित थे और सभी लोगों ने दोनों को लकड़ी देकर अंतिम विदाई दिया। भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी पलामू जिला परिषद उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त करती है।

Check Also

भाजपा चितरपुर मंडल कार्य समिति की बैठक संपन्न

🔊 Listen to this स्थानीय समस्याओं को लेकर आंदोलन करने का निर्णय रजरप्पा(रामगढ़)। बुधवार को …