Breaking News

आठ साल देश बेहाल का नारा आज हो रहा चरितार्थ:आलोक दुबे

कांग्रेस ने भाजपा पर बोला जोरदार हमला

रांचीझारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता और संगठन सशक्तिकरण अभियान के जिला संयोजक आलोक कुमार दूबे ने केंद्र की भाजपा सरकार की 8 साल का कार्यकाल पूरा होने पर आरोप पत्र जारी करते हुए कहा कि 8 साल देश बेहाल का नारा आज चरितार्थ हो रहा है। श्री दूबे आज गुमला में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। केंद्र की बीजेपी सरकार की विफलता को उजागर करने के लिए आज देशभर में जिला मुख्यालयों पर पार्टी की ओर से संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।
संगठन सशक्तिकरण अभियान के संयोजक आलोक कुमार दूबे ने बताया कि झारखण्ड कांग्रेस प्रभारी अविनाश पाण्डेय के निर्देशानुसार झारखण्ड के सभी जिला मुख्यालयों पर संयोजकों द्वारा आज संवाददाता सम्मेलन आयोजित किये गए।श्री दूबे ने कहा कि पार्टी की ओर से आज देश भर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ” 8 साल 8 छल”को लेकर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है ।उन्होंने कहा कि “महंगे दिन नौकरी बिन ” सबसे युवा देश को बेरोजगारी और अनपढ़ता के अंधकार में झोंकने वाली बीजेपी सरकार से आम लोग त्रस्त है । 8 साल में देश की अर्थव्यवस्था अर्श से फर्श तक पहुंच चुकी है , इस दौरान लोगों की आमदनी दुगनी तो नहीं हुई लेकिन दर्द 100 गुना बढ़ गया है ।केंद्र की भाजपा सरकार का विकास से कोई नाता नहीं है बल्कि उन्हें सिर्फ नफरत फैलाना आता है ।

भाजपा के नेता शौर्य के नाम पर वोट जरूर मांगते हैं लेकिन सेना के हितों पर चोट पहुंचाते हैं ।राष्ट्रीय सुरक्षा पर प्रधानमंत्री ने लोगों की आंखें बंद कर दिया, देश की सुरक्षा आज खतरे में पड़ गई है।नोटबंदी और जीएसटी से पूंजीपतियों को फायदा हुआ,कोरोना महामारी में प्रधानमंत्री की गलतियों की वजह से लाखों जानें चली गई,गरीबी का आलम यह है कि दुनिया में भारत सबसे नीचे पायदान पर खड़ी है। केन्द्र सरकार की यह जिम्मेदारी होती हैं कि रोजगार सृजित किए जायें लेकिन यहां तो 24 करोड़ से अधिक युवाओं ने अपना रोजगार खोया है,बढ़ती महंगाई से देशवासी तबाह और बर्बाद हो रहे हैं।
उन्होंने ईडी,आईटी और सीबीआई की कार्रवाई का समर्थन करते हुए कहा कि पिछले 22 सालों के दौरान झारखंड में 18 वर्षों तक भाजपा नेताओं ने ही राज किया है और आज जांच एजेंसियों की छापामारी में जितने भी खुलासे हो रहे हैं वे सारे घोटाले और घपले पूर्ववर्ती सरकार के लोगों ने ही किया था। इसलिए पार्टी का यह मानना है कि भ्रष्टाचार के मामले में किसी तरह का कोई समझौता नहीं किया जा सकता। जेई से लेकर बड़े प्रशासनिक अधिकारी जो भी इन अनियमितताओं में शामिल है उन सभी की जांच होनी चाहिए और इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि किस तरह से पूर्व की सरकार में प्रेम प्रकाश और विशाल चौधरी जैसे लोगों की सरकार चलाने में सहभागिता थी। पार्टी यह मांग करती है कि जो भी दोषी है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए और कहीं से भी दोषियों को बख्शा नहीं जाए। अभी तक की छापामारी में जो तथ्य सामने आए हैं इससे यह साबित होता है कि पिछली सरकार में किस तरह से अपने लोगों को लाभ पहुंचाने की कोशिश की गई थी और जनता के पैसे का बंदरबांट किया गया था। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने एसीबी जैसी राज्य की जांच एजेंसियों को भी जानबूझकर कमजोर रखने का काम किया। इसी का नतीजा है कि आज केंद्रीय जांच एजेंसियों को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है लेकिन यदि एसीबी मजबूत होती तो पिछली सरकार में यह सारी गड़बड़ियां ही नहीं हो पाती। अब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में सरकार इन गड़बड़ियों को रोकने के लिए प्रतिबद्ध है और अभी हाल ही में राज्य सरकार की ओर से झारखंड उच्च न्यायालय के नए भवन और विधानसभा भवन में अनियमितता की जांच को लेकर तेज गति से काम करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा मैनहर्ट घोटालाष, टी-शर्ट,कंबल घोटाला,दवा घोटाला,मैनहर्ट,चूहा द्वारा बांध कुतरने का घोटाला,टॉफी वितरण घोटाला, 1 दिन में सवा लाख लोगों को रोजगार के नाम पर किए गए स्टार्टअप इंडिया घोटाले की जांच की जा रही है। आलोक दूबे ने कहा कि राज्य की जनता चाहती है कि पिछले 22 वर्षों के पूरे भ्रष्टाचार की जांच हो,सही से अगर जांच हुए तो हजारों करोड़ रुपये पकड़े जाएंगे।लोगों को इस बात का भी डर है कि भाजपा के बड़े नेताओं तक अगर भ्रष्टाचार उजागर होती हैं और एजेंसियां पहुंचती हैं जो कि होना ही है तो जांच कहीं बीच में ही रुक ना जाए।
कांग्रेस नेता आलोक दूबे ने कांग्रेस कोटे के चारों मंत्रियों के कार्यों की भी प्रशंसा की एवं कहा कि डा रामेश्वर उरांव ने गरीबों के लिए धोती साड़ी लुंगी, बुजुर्गों को यूनिवरसल पेंशन,गरीबों को हरा कार्ड,25 रुपये पेट्रोल पर सब्सिडी, किसानों का धान अधिप्राप्ति जैसी योजनाओं को शुरु किया तो ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने गांवों की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया,पूरे कोरोना काल में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने झारखंड वासियों को सुरक्षित रखा और उसके बाद भी स्वास्थ्य सुविधाओं का अंबार बिछाया तो कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने समय से पूर्व खान,बीज व कृषि यंत्र समय से पूर्व उपलब्ध कराया जिसे प्रचारित प्रसारित करने की जरुरत है।इस मौके पर गुमला जिला कांग्रेस अध्यक्ष रौशन बरुवा, मीडिया प्रभारी माणिक चन्द्र साहू,रमेश चीनी,जिला कांग्रेस कमिटी के पूर्व अध्यक्ष शिव कुमार भगत,चुमनू उरांव, प्रदेश कांग्रेस नेत्री बॉबी भगत,महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमृता भगत,अकिल हैदर, आशिक अंसारी मुख्य रुप से उपस्थित थे।

Check Also

भाजपा चितरपुर मंडल कार्य समिति की बैठक संपन्न

🔊 Listen to this स्थानीय समस्याओं को लेकर आंदोलन करने का निर्णय रजरप्पा(रामगढ़)। बुधवार को …